राम के रंग में रंगा हुआ है Ram Ke Rang Me Ranga Hua Hai Lyrics

राम के रंग में रंगा हुआ है Ram Ke Rang Me Ranga Hua Hai Lyrics राम के रंग में रंगा हुआ है, अंजनीसुत बजरंग बाला, ऐसा लगता छलक रहा है, जैसे भक्ति का प्याला, राम के रंग मे रंगा हुआ हैं, तर्ज – क्या मिलिए ऐसे लोगों से।

राम के रंग में रंगा हुआ है Lyrics



राम के रंग में रंगा हुआ है
अंजनीसुत बजरंग बाला
ऐसा लगता छलक रहा है
जैसे भक्ति का प्याला
राम के रंग मे रंगा हुआ हैं।

राम की सेवा करने खातिर
धरती पर अवतार लिया
जो भी आज्ञा मिली राम से
हनुमत ने स्वीकार किया
राम नाम के महामंत्र की
हर पल ये फेरे माला
ऐसा लगता छलक रहा है
जैसे भक्ति का प्याला
राम के रंग मे रंगा हुआ हैं।


पाँव में घुंगरू बाँध के नाचे
हाथो में करताल बजे
प्रेम मगन हो बजरंगी का
स्वास स्वास श्री राम भजे
राम की धुन में मस्त होय कर
नाच रहा है मतवाला
ऐसा लगता छलक रहा है
जैसे भक्ति का प्याला
राम के रंग मे रंगा हुआ हैं।


तन मन इसका अर्पण सारा
श्री राम के चरणों में
प्रेम का सागर उमड़ रहा है
हनुमान के नैनो में
भक्ति की मस्ती में इसने
सीना फाड़ दिखा डाला
ऐसा लगता छलक रहा है
जैसे भक्ति का प्याला
राम के रंग मे रंगा हुआ हैं।


राम नाम के सिवा जगत में
हनुमत को कुछ ना भाये
हनुमत को प्यारा लगता है
राम की महिमा जो गाये
‘बिन्नू’ जो है राम का प्रेमी
उसका है ये रखवाला
ऐसा लगता छलक रहा है
जैसे भक्ति का प्याला
राम के रंग मे रंगा हुआ हैं।


राम के रंग में रंगा हुआ है
अंजनीसुत बजरंग बाला
ऐसा लगता छलक रहा है
जैसे भक्ति का प्याला
राम के रंग मे रंगा हुआ हैं।

Post a Comment

0 Comments